Mon, October 19
सोलन
24x7 Live TV
Latest Videos
Digital Paper
पुरानी पेंशन स्कीम और कारोबारियों के मुद्दों को लेकर होगा आंदोलन: डॉ राजन सुशांत

लाइव टाइम्स ब्यूरो 

ऊना : पूर्व सांसद डॉ राजन सुशांत ने पुरानी पेंशन स्कीम और कारोबारियों के मुद्दों को लेकर आंदोलन की चेतावनी दे डाली है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने साल 2003 में काला कानून लाकर देश के करोड़ों कर्मचारियों पर जो आघात किया है। उसे बदलने के लिए संघर्ष का रास्ता अख्तियार करना पड़ेगा। डॉ सुशांत ने कहा कि कोरोनाकाल के दौरान सरकार ने लॉकडाउन लगा दिया। ऐसे समय में कारोबारियों को बिजली के बिल और जीएसटी सहित अन्य कई तरह की आर्थिक मुसीबतों से दो-चार होना पड़ रहा है। लेकिन सरकार ने इस ओर से आंखें मूंद रखी हैं। डॉ सुशांत ने यह भी कहा कि जब अगली बार वह ऊना दौरे पर आएंगे तो प्रदेश के कुछ ऐसे नेताओं के काले कारनामों के कच्चा चिट्ठा खोलेंगे जो खुद को बड़ा आदर्शवादी बताते हैं लेकिन उनकी हकीकत कुछ और ही है। पूर्व सांसद डॉ राजन सुशांत पुरानी पेंशन स्कीम की बहाली की मांग को लेकर कर्मचारियों और पेंशनरों को जगाने के अभियान पर निकले हैं। सोमवार को इसी क्रम के तहत पूर्व सांसद ने ऊना जिला पहुंच प्रेस वार्ता करते हुए पुरानी पेंशन स्कीम की बहाली को कर्मचारियों द्वारा किए जा रहे धरना प्रदर्शन में कर्मचारियों का शत-प्रतिशत सहयोग मांगा। पूर्व सांसद ने कहा कि भारत सरकार ने साल 2003 में काला कानून बनाकर सालों तक सरकारी क्षेत्र में सेवाएं देने वाले कर्मचारियों को बुढ़ापे में मल्टीनेशनल कंपनियों के रहमों करम पर जीने के लिए छोड़ दिया है। डॉ राजन सुशांत ने कर्मचारियों के बाद कारोबारियों को पेश आ रही दिक्कतों को लेकर भी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि लंबे लॉकडाउन के दौरान कारोबार जगत को बड़े स्तर पर घाटा हुआ है। ऐसे में कारोबारियों के लिए अपने परिवारों का पालन पोषण करना भी बेहद मुश्किल हो गया। राजन सुशांत ने कहा कि आने वाले समय में कमचारियों, कारोबारियों सहित आम जनता की मांगों को लेकर संघर्ष का रास्ता अख्तियार किया जाएगा, ताकि घोर निद्रा में सो रही सरकार को जगा कर इस वर्ग की समस्याओं को भी ध्यान में लाया जा सके। वहीँ पिछले लोकसभा चुनावों में पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार पर लगाए गए आरोपों के सवाल पर पूर्व सांसद डॉ राजन सुशांत ने कहा कि इस दौरे के दौरान राजनीति की कोई भी बात नहीं करेंगे। लेकिन जब अगली बार ऊना दौरे पर आएंगे तो ऐसे नेताओं के काले कारनामों के कच्चे चिट्ठे जरूर खोलेंगे, जिन्होंने ताउम्र खुद को आदर्शवादी साबित करने में कोई कमी नहीं छोड़ी। डॉ सुशांत ने कहा कि दूसरों को नैतिकता के मार्ग पर चलने के उपदेश देने वाले ऐसे नेता हिमाचल प्रदेश के पालमपुर के ही हैं।

Live Events

शिमला लाइव : नवरात्रों को लेकर क्या रहेगी व्यवस्था जानिए उपायुक्त अमित कश्यप से.....
देखें रेलवे कैसे कर रहा ट्रैक और फाटक की मुरम्मत, ऊना-हमीरपुर रोड पूरी तरह हुआ बन्द

Latest Videos

हमीरपुर : खैरी में 200 कनाल भूमि में कउ सेंन्युचरी की जा रही तैयार |
13-Oct-2020
एनएच पर और बाजार में ई-रिक्शा नहीं रहेंगे खड़े सोना चौहान |
13-Oct-2020
शिमला : दीपावली पर हिमाचल के गौ सदनों में बनाएं जाएंगे 2 करोड़ दीये
13-Oct-2020
बिलासपुर : अग्निशमन विभाग ने श्री नैना देवी क्षेत्र का निरीक्षण किया और प्रबंधों का जायजा लिया
13-Oct-2020
Sponsored Ads