Tue, March 09
सोलन
24x7 Live TV
Latest Videos
Digital Paper
धर्मशाला में 7 को पीएम मोदी तो 8 नवंबर को गृह मंत्री अमित शाह आएंगे ग्लोबल इन्वेस्टर मीट

शिमला, हिमाचल प्रदेश सरकार हिमाचल में पहली बार 7 व 8 नवंबर को धर्मशाला में ग्लोबल इन्वेस्टर मीट करवाने जा रही है। जिसके लिए 11सौ से ज़्यादा निवेशक धर्मशाला पहुंच रहे है। जो 83 हज़ार करोड़ का निवेश करने वाले है। ये जानकारी मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने शिमला में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी। उन्होंने बताया कि इन्वेस्टर मीट में 16 देशों के निवेशक रहे है। जिनमें सबसे बड़ा निवेशक देश यूएई है जो की इन्वेस्टर का पार्टनर भी है। 

जय राम ठाकुर ने बताया कि सबसे बड़ा निवेश हाइड्रो में हो रहा है जिसका अनुमान 27 हज़ार करोड़ का है। पर्यटन दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र है जिसमें 15 हज़ार करोड़ का निवेश आएगा। इन्वेस्टर मीट को लेकर  विपक्ष के आरोपों को सिरे से ख़ारिज करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस निवेशकों के पलायन का जो आरोप लगा रही है, ये आरोप निराधार है, बीबीएम में सिंगल विंडो के ज्यादातर प्रॉजेक्ट्स बद्दी नालागढ़ और बरोटीवाला में सरकार ने हाल ही में क्लीयर किए है।
सीएम ने कहा कि प्रदेश में उद्योगों से पर्यावरण को नुकसान न है इसका ध्यान रखा जाएगा। इन्वेस्टर मीट में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, रेल मंत्री पीयूष गोयल, पर्यटन मंत्री प्रल्हाद पटेल व वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर भी आ रहे है। निवेशकों में देश के बड़े घराने अम्बानी, गोदरेज, महेंद्रा आदि भी आ रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में पहली बार इस तरह का काम हो रहा है जिससे उन्हें काफ़ी उम्मीद है।

Latest Videos

नाचन विधायक विनोद कुमार ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और शहरी विकास मंत्री का जताया आभार
15-Dec-2020
शाहपुर पुलिस ने नाके के दौरान 120 बोतल देसी शराब पकड़ी
15-Dec-2020
कृषि कानून से किसानों को होगा लाभ
15-Dec-2020
हिम सुरक्षा अभियान के तहत 2 लाख 45 हजार लोगों की हुई स्क्रीनिंग
15-Dec-2020
नाहन : कोहरे ने बढ़ाई लोगों की मुश्किलें
15-Dec-2020
संजीवनी सहारा समिति रोहडू ने टिक्कर पंचायत के गुजांदली गांव में अग्नि पीड़ित परिवारों को राशन सामग्री लेकर की सहायता
15-Dec-2020
बिलासपुर के माकड़ी-मार्कण्ड पंचायत के ग्रामीण मारपीट के मामले को लेकर पुलिस की कार्यवाही से हैं खफा
15-Dec-2020
मंडी : किसानों के समर्थन में किसान संगठनों ने सेरी मंच पर किया प्रदर्शन केंद्र सरकार के कृषि बिल व बिजली बिल को वापिस लेने की उठाई मांग
14-Dec-2020
Sponsored Ads