Thu, April 15
सोलन
24x7 Live TV
Latest Videos
Digital Paper
मंडी : दो बार उदघाटन होने के बाद भी अधूरा है मंडी बस स्टैंड।

1993 में शिलान्यास, 2009 में निर्माण कार्य का आगाज, 2012 और 2016 में दो बार उदघाटन, लेकिन फिर भी अधूरा पड़ा है बस स्टैंड। यह कहानी है मंडी जिला के सबसे बड़े और इकलौते अंतर्राजीय बस स्टैंड की। मौजूदा सरकार के मुखिया मंडी से हैं लेकिन अभी तक इसके विस्तार की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा सका है। लोगों ने बस स्टैंड के अधूरे काम को जल्द पूरा करने की मांग उठाई है।

मंडी बस स्टैंड। यह नाम सुनते ही दिमाग में सिर्फ एक ही बात आती है और वह है राजनीति। मंडी बस स्टैंड राजनीति की ऐसी भेंट चढ़ा कि दो बार उदघाटन होने के बाद भी आज दिन तक इसका कार्य पूरा नहीं हो सका। आज भी बस स्टैंड की दूसरी मंजिल का निर्माण कार्य पूरी तरह से अधर में लटका हुआ है। सीमेंट और सरिए के बड़े-बड़े पिल्लर खड़े तो कर दिए हैं लेकिन इनमें लगा सीमेंट टूटता जा रहा है और सरिया जंग खाता जा रहा है। न जाने ऐसी कौन की बात है कि इस बस स्टैंड के साथ हमेशा राजनीति ही होती रही। वर्ष 1993 में तत्कालीन केंद्रीय राज्य मंत्री पंडित सुखराम ने नए बस स्टैंड का शिलान्यास किया। शिलान्यास के 16 वर्षों बाद 30 दिसंबर 2009 को तत्कालीन सीएम प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने इसके निर्माण कार्य का भूमि पूजन किया और कार्य आरंभ हुआ। 13 सितंबर 2012 को विधानसभा चुनावों से ठीक पहले आधे अधूरे बस स्टैंड का उदघाटन कर दिया गया। यह उदघाटन भी प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने ही किया। इसके बाद सत्ता परिवर्तन हुआ और वीरभद्र सिंह मुख्यमंत्री बने। उनके कार्यकाल में ग्राउंड फ्लोर पर अधूरे रह गए निर्माण कार्य को पूरा किया गया। 30 मई 2016 को वीरभद्र सिंह ने बस स्टैंड का फिर से उदघाटन कर दिया। इसके बाद फिर किसी ने बस स्टैंड की तरफ मुड़कर नहीं देखा। बस स्टैंड की दूसरी मंजिल के निर्माण के लिए पिल्लर भी खड़े कर दिए गए थे लेकिन आज दिन तक इस दिशा में कार्य आगे ही नहीं बढ़ सका। मंडी शहर निवासी राम लाल शर्मा और अल्कानंदा हांडा ने बस स्टैंड के अधूरे कार्य पर दुख जताते हुए राज्य सरकार से इसे जल्द से जल्द पूरा करने की मांग उठाई है।

बस स्टैंड की दूसरी मंजिल के विस्तार के लिए कई योजनाएं बनी और धराशाही हो गई। कहा गया कि यहां पर पार्किंग स्थल बनाया जाएगा, शाॅपिंग काॅम्पलेक्स बनाया जाएगा, दूसरी मंजिल पर भी बसों के आने जाने की सुविधा होगी, लेकिन यह सारी योजनाएं हवाओं में बनी और गायब हो गई। मौजूदा सरकार की बात करें तो सरकार के पास भी इस बस स्टैंड के विस्तार की कोई ठोस योजना नहीं है। सीएम जयराम ठाकुर से जब इस बारे में बात की गई तो उन्होंने बताया कि बस स्टैंड की उपरी मंजिल पर एक बड़े हाॅल के निर्माण के बारे में विचार किया जा रहा है जहां एक साथ एक हजार से अधिक लोगों के बैठने की व्यवस्था हो सके। लेकिन इस पर भी अभी एग्जामिनेशन का कार्य चला हुआ है।

 मंडी का बस स्टैंड पूरी तरह से कब पूरा होगा इसको लेकर कोई सटीक भविष्यवाणी नहीं की जा सकती। वर्षों के इंतजार के बाद जितना बस स्टैंड बन गया है शायद उसी में गुजारा करना मंडी वासियों के नसीब में है।

Latest Videos

चम्बा : प्रदेश के सभी मुख्यालयों में हिमाचल दिवस समारोह का आयोजन
14-Apr-2021
अर्की : अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की बैठक आयोजित
14-Apr-2021
शिमला : टीएमसी नेता के अमर्यादित बोल के खिलाफ बीजेपी ने राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन, कार्यवाही की मांग
14-Apr-2021
कुल्लू : घूमने आए रोहन बन गए उद्यमी, कुल्लू में चला रहे चॉकलेट का बिज़नेस।
14-Apr-2021
शिलाई : ऊंचाई वाले क्षेत्रों को पर्यटन की दृष्टि से किया जा रहा विकसित
14-Apr-2021
बिलासपुर : नैना देवी माता मंदिर में श्रद्धालुओं का आना जारी
14-Apr-2021
सोलन :लॉकडाउन के पक्ष में नहीं दिखे सोलन वासी ,लॉकडाउन देशवासियों के हित में नहीं
14-Apr-2021
नूरपुर : राजनीतिक संरक्षण में फलफूल रहा ईंट माफिया।
14-Apr-2021